सुबह का नाश्ता क्यों जरुरी होता है? | Why is Breakfast Important in the Morning?

सुबह का नाश्ता क्यों जरुरी होता है? | Why is Breakfast Important in the Morning?

सुबह का नाश्ता क्यों जरुरी होता है? - सुबह का नाश्ता - Why is Breakfast Important in the Morning?


सुबह का नाश्ता दिन के शुरुआत का पहला आहार होता है। यह बहुत जरुरी है और उठने के बाद घंटे के अंदर कर लेना चाहिए। कुछ लोग इसे बिल्कुल महत्व नहीं देते। विशेषकर महिलाएं सुबह उठने के बाद बिना कुछ खाए , बिना रुके  4-5 घंटे तक घर के काम में लगी रहती है।


यह बहुत नुकसानदायक होता है। इससे कुछ समय बाद बहुत कमजोरी महसूस होने लगती है। गुस्सा भी आता रहता है और चिड़ भी मचतीर रहती है। हाथ पैर कांपने लगते है।

इसी प्रकार कुछ लोग ऑफिस जाने की जल्दी के कारण या देर से उठने के कारण  सुबह का नाश्ता नहीं कर पाते। कुछ लोग सिर्फ चाय पीते रहते है,

इसलिए नाश्ता नहीं करते। कुछ लोग भूख नहीं होने का बहाना बना कर सुबह का नाश्ता टाल देते है। लेकिन सुबह नाश्ता नहीं करने के बहुत से शारीरिक और मानसिक नुकसान हो सकते है। 

यदि आपको बेवजह थकान और कमजोरी महसूस होती है और ऐसा लगता है

की कुछ याद नहीं रहता तो हो सकता है कि यह सुबह नाश्ता नहीं करने के कारण होता हो। कुछ दिन सुबह नियमित पौष्टिक नाश्ता लेकर देखें। हो सकता है कि समस्या का समाधान हो जाये।

नाश्ता नहीं करने का मतलब है कि पिछले दिन रात को किये गए भोजन के बाद से पेट में कुछ नहीं गया।

यानि लगभग 12 -14 घंटे से शरीर को और दिमाग को पोषक तत्व नहीं मिले है। नाश्ता नहीं करने से ब्लड शुगर लेवल पर असर पड़ता है

गुस्सा आने लगता है , चिड़ सी मचने लगती है ।  यह खुद के लिए और घर या ऑफिस के लोगों के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

ऐसा ब्लड में शुगर कम होने की वजह से होता है। जब ब्लड शुगर लेवल कम होता है तो गुस्सा आना स्वाभाविक होता है क्योकि इसके असर से थकान भी लगती है और सोचने समझने की शक्ति पर भी असर पड़ता है। नाश्ता समय से करने से गुस्सा और चिड़चिड़ाहट से बचा जा सकता है।

कुछ लोगों को सुबह काम की  अत्यधिक व्यस्तता के कारण नाश्ता करने भी का समय नहीं मिलता। लेकिन इससे बाद में रक्त में ग्लूकोस की कमी हो जाती है। जिसे हाइपो ग्लाइसीमिया  कहते है। इसके कारण धुंधला दिखना , घबराहट , चिड़चिड़ाहट , कमजोरी , सिरदर्द ,कंपकंपी , थरथराहट ( Vibration ) , चक्कर आना , पसीने छूटना , त्वचा में झुनझुनाहट आदि हो सकते है।यहाँ तक की बेहोशी भी हो सकती  है। यह लक्षण नजर आते हो तो नाश्ता  समय पर लेना अवश्य शुरू कर देना। शाम के वक्त भी ऐसा हो सकता है।

जब भी भूख लगती है तो पेट में एसिड बनता है। नाश्ता नहीं करने पर यह एसिड पेट की दिवार तथा भोजन नली को नुकसान पहुंचाता है।

सुबह का नाश्ता क्यों जरुरी होता है? - सुबह का नाश्ता - Why is Breakfast Important in the Morning?


इसके कारण एसिडिटी की समस्या पैदा हो सकती है।

सुबह नाश्ता नहीं करने वाले लोगों में इन्सुलिन रेसिस्टेंस , टाइप 2 डायबिटीज तथा मोटापा बढ़ने का खतरा अधिक होता है।

इससे  ब्लडप्रेशर​ बढ़ने तथा ह्रदय रोग होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

दिमाग को रात के समय भी पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज़ की आवश्यकता होती है। जब हम खाना नहीं खाते तब ऊर्जा के लिए ग्लूकोज लीवर से

प्राप्त होता है। यह ग्लूकोज लीवर में ग्लाइकोजेन के रूप में संग्रह किया हुआ रहता है। हो सकता है कि जरुरत के समय  ग्लूकोज़ की

सप्लाई के लिए लीवर में पर्याप्त मात्रा में ग्लाइकोजेन का संग्रह ना हो। ऐसा होने से शरीर में कोर्टिसोल नामक तनाव का हार्मोन बढ़ जाता हैँ।

दिमाग को ग्लूकोज के रूप में ऊर्जा नहीं मिलने के कारण सिरदर्द या सुस्ती महसूस होने लगते है। सुबह जल्दी नाश्ता कर लेने से इससे बचाव हो सकता है ।

नाश्ता या ब्रेकफास्ट नहीं करने से कोर्टिसोल का स्तर बढ़ता चला जाता है , इससे इन्सुलिन प्रतिरोध पैदा होता है। और ज्यादा भूख लगती रहती है। अतः दिन भर की भूख और थकान से बचने के लिए नाश्ता जरुरी है।

जो लोग सुबह का नाश्ता नहीं करते वे लोग नाश्ता करने वालों से ज्यादा मोटापे से ग्रस्त होते है क्योकि नाश्ता नहीं करने से दिन भर भूख और शक्करकी जरुरत महसूस होती रहती है। इसलिए दिन भर खाना पीना चलता रहता है और वजन बढ़ जाता है। अतः वजन कम करना चाह रहे हों तो सुबह का नाश्ता अवश्य लें..

सुबह का नाश्ता क्यों जरुरी होता है? - सुबह का नाश्ता - Why is Breakfast Important in the Morning?